Header Ads

.

Primary School of Ambedkar Nagar Fully Demolished Responsible Bekhabar,

अम्बेडकर नगर के प्राथमिक विद्यालय पूरी तरह ध्वस्त जिम्मेदार बेखबर

 विद्यालयों में अब नहीं गूंजता बच्चों का ककहरा

 _*ग्रामीणों ने मीडिया कर्मियों को देखते ही विद्यालय की शिक्षा के बारे में कहना शुरू कर दिया*_ 

अंबेडकरनगर
बच्चों के साथ अध्यापक सीधे भविष्य के साथ खिलवाड़ रहे हैं। कारण शिक्षा विभाग की चुप्पी है। बृहस्पतिवार को कई विद्यालयों का हाल देखा तो पढ़ाई और गुणवत्ता की सच्चाई सामने आई। मीडिया कर्मियों को देखते ही चिल्लाकर पढ़ाई और गुणवत्ता की सच्चाई कहना शुरू कर दिया।
जनपद के विकास खण्ड  अकबरपुर के ग्राम पंचायत मीरपुर शेखपुर और कोडरा में स्थित प्राथमिक विद्यालय में गरीब बच्चों के भविष्य के साथ में खिलवाड़ किया जा रहा है।कभी सरकार विद्यालयों में ककहरा की गूंज से पूरा गांव गुनगुनाने लगते थे। अब शिक्षक बच्चों को नहीं पढ़ाते हैं। बच्चों को सरकारी सुविधाएं तो मिलती हैं लेकिन शिक्षा नहीं दी जाती है। 
     आपको बताते चलें, कि विद्यालय में मीडिया टीम ने जायजा लिया। वहा पर अध्यापक उपस्थित मिले और बच्चे मैदान में खेलते हुए नजर आए तो वहां पर उपस्थित ग्रामीणों ने विद्यालय के अध्यापकों द्वारा किए जा रहे शिक्षण कार्य को लेकर ग्रामीणों ने बताया कि अध्यापकों द्वारा शिक्षण कार्य नहीं किया जाता बल्कि एक स्थान पर  सभी अध्यापक मीटिंग करते हैं और समय पूरा होने पर ताला बंद कर घर चले जाते हैं यह मैं नहीं कहता यह विद्यालय के आसपास के ग्रामीण कहते हैं। ग्रामीणों द्वारा यह भी कहा विगत सप्ताह ग्राम प्रधान द्वारा विद्यालय के अध्यापकों के ऊपर पेच कसे गए जिससे 2 दिन पढ़ाई का कार्य कुछ चला परंतु फिर व्यवस्था जस की तस। अगर उच्च अधिकारी ग्राम वासियों से जानकारी प्राप्त करें हर ग्रामीण एक ही बात कहता नजर आया गत 2 वर्षों से पढ़ाई की व्यवस्था शून्य है कहने को विद्यालय में अध्यापक परंतु पढ़ाई के नाम पर ग्रामीणों ने कहा साहब बच्चों से आम या इमली कुछ भी बोल कर लिख वाले तो हम जाने।
जब इतना  ज्यादा  वेतन पाने वाले लोग अपनी जिम्मेदारी नहीं समझ रहे हैं और बच्चों के भविष्य के साथ में खिलवाड़ कर रहे हैं। तो अन्य अध्यापकों के बारे में सोचना बेमानी होगी। यह वही अध्यापक हैं जो बच्चों  के सर्वांगीण विकास व समाज के विकास को लेकर के बड़ी-बड़ी बाते किया करते हैं।
    आप सभी लोग देख सकते हैं कि यह बच्चे किस प्रकार से विकास कर रहे हैं इस बाबत में अधिकारियों को भी अवगत करा दिया गया है अब देखना यह है कि उच्च अधिकारी कुछ कार्रवाई करते है या फिर इन सभी लापरवाह अध्यापकों छूट देते हैं।

1 comment:

  1. The most enduring symbol of the Norse - titanium arts
    apr casino tj-metal-arts › tj-metal-arts The most enduring symbol titanium ring of 출장샵 the Norse - titanium arts · The most enduring symbol of the worrione.com Norse - titanium arts · The most enduring symbol of poormansguidetocasinogambling.com the Norse - titanium arts.

    ReplyDelete