Header Ads

.

डीएम ने बेसहारा गैयो के संरक्षण पर अधिकारियों संग मंथन, बनाई रणनीति*

डीएम ने बेसहारा गैयो के संरक्षण पर अधिकारियों संग मंथन, बनाई रणनीति*

लखीमपुर खीरी 16 सितंबर 2021 : बुधवार की देर रात डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने कलेक्ट्रेट में बेसहारा गोवंश के संरक्षण पर अधिकारियों संग मंथन किया। 

डीएम ने अधिकारियों को गोवंश के संरक्षण पर प्रभावी रणनीति से काम करने के निर्देश दिए। सहभागिता योजना के जरिये लोगो को जागरूक कर गोवंश की सुपुर्दगी भी कराई जाए, लाभार्थी को ₹900 प्रति माह प्रति गोवंश के हिसाब से धनराशि उनके खाते में अंतरित की जाए। वही आश्रय स्थल में संरक्षित गोवंश को पर्याप्त आहार उपलब्ध कराते हुए उनकी देखभाल व स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जाए। कार्यदायी संस्था पीडब्ल्यूडी द्वारा बनाए जा रहे दो बृहद गो-आश्रय स्थलों  ( ब्लाक फूलबेहड़ के बैसैगापुर व ब्लॉक नकहा के चाऊपुर) में उसके स्थाई निर्माण तक उनमें अस्थाई तौर पर गोवंश के संरक्षण की व्यवस्था के निर्देश दिए। उन्होंने प्रत्येक गो आश्रय स्थल के सूक्ष्म व सघन पर्यवेक्षण, अनुश्रवण हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिए।

सीडीओ अनिल सिंह ने जिले में संचालित सभी 43 गो-आश्रय स्थलों के बेहतर संचालन के टिप्स दिए। उनमें संरक्षित गोवंश की संख्या जानी। एसडीएम-बीडीओ आपसी समन्वय से अपने क्षेत्रों में निराश्रित गोवंश संरक्षण पर प्रभावी रणनीति से काम करें, जो 10 अस्थाई गो-आश्रय स्थल अभी बनकर तैयार हुए है, उनमें निराश्रित गोवंश का संरक्षण कराएं। वही अन्य अस्थाई गो आश्रय स्थल बनाने के लिए भी सार्थक प्रयास करें। ऐसी संरक्षण की कार्ययोजना बनाएं कि जिले के किसी सड़क पर कोई निराश्रित गोवंश नजर ना आए।

बैठक में एसडीएम व बीडीओ से दोनों अधिकारियों ने उनके क्षेत्रों में गोवंश के संरक्षण पर उनकी कार्ययोजना जानी। बताते चलें कि जिले में कुल 43 को आश्रय स्थल संचालित है। जिनमें ग्रामीण क्षेत्रों में 36, नगरीय निकायों में 05 व जिपं के 02 गो आश्रय स्थल संचालित है। इसमें तीन बृहद गो आश्रय स्थल भी शामिल है।

*Divison chief Lucknow*
*satyendra kumar*
*News 24 india*

No comments