Header Ads

.

राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 23 अदालतें लगायी गयी


अंबेडकर नगर
*राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 23 अदालतें लगायी गयी*
जनपद न्यायालय परिसर अम्बेडकरनगर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन  पद्म नारायण मिश्र, माननीय जनपद न्यायाधीश / अध्यक्ष, जिलाविधिकसेवाप्राधिकरण, अम्बेडकरनगर की अध्यक्षता में माँ सरस्वती के प्रतिमा के समक्ष दीपार्चन एवं पुष्पार्चन करके डॉ० रीमा बन्सल, चतुर्थ अपर जिला ज़ज़ / नोडल अधिकारी राष्ट्रीय लोक अदालत की उपस्थिति में एवं  प्रियंका सिंह, सचिव, जिला विधिकसेवाप्राधिकरण,अम्बेडकरनगर के देख-रेख में एवं जनपदन्यायालयअम्बेडकरनगर के समस्त सम्मानित न्यायिक अधिकारीगण की उपस्थिति में कोविड-19 महामारी में शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करते हुए कराया गया।
इसके अतिरिक्त पुरानी कचहरी अकबरपुर अम्बेडकरनगर स्थित पारिवारिक न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन अनमोल पाल, प्रधान न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय की अध्यक्षता में माँ सरस्वती के प्रतिमा के समक्ष दीपार्चन एवं पुष्पार्चन करके एवं  पद्म नारायण मिश्र, माननीय जनपद न्यायाधीश महोदय, डॉ० रीमा बन्सल, चतुर्थ अपर जिला जज / नोडल अधिकारी राष्ट्रीय लोक अदालत एवं श्रीमती पूजा विश्वकर्मा, अपर प्रधान न्यायाधीश, पारिवारिक न्यायालय / नोडल अधिकारी, राष्ट्रीय लोक अदालत की उपस्थिति में व  प्रियंका सिंह सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, अम्बेडकरनगर के देख-रेख में कोविड-19 महामारी में शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करते हुए कराया गया।इस राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 23 अदालतें लगायी गयी  पद्म नारायण मिश्र, माननीय जनपद न्यायाधीश द्वारा 01 वाद निस्तारण किया गया।  अनमोल पाल, माननीय प्रधान न्यायाधीश, पारिवारिक न्यायालय, अम्बेडकरनगर द्वारा कुल 14 पारिवारिक वादोंकानिस्तारण किया गया। इसमें से 04 दम्पत्तियों जो कि वर्षों से अलग-अलग रह रहे थे, एक साथ रहने को राजी हुए, प्रधान न्यायाधीश,पारिवारिक न्यायालय ने सभी दम्पत्तियों को आशीर्वाद देकर विदा किया तथा 3 बाद में पति-पत्नी के समझौते के रूप में मु० 8,10,000 / - (आठ लाख दस हजार रूपये) की धनराशि अनुमन्य की गई है। विश्वनाथ, अपर जिला न्यायाधीश, कक्ष संख्या 01 अम्बेडकरनगर द्वारा कुल 35 वादों का निस्तारण करते हुये 11000/- (ग्यारह हजार रुपये) का अर्थदण्ड आरोपित किया गया। रत्नेश मणि त्रिपाठी, विशेष न्यायाधीश. अनु0जाति / अनु0जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम, अम्बेडकरनगर द्वारा 07 वादों का निस्तारण करते हुए रू0 500/- (पांच सौ रूपये) का अर्थदण्ड आरोपित किया गया आशीष वर्मा, विशेष न्यायाधीश पॉक्सो अधिनियम द्वारा 02 वादों का निस्तारण करते हुए रू० 1,000/- (एक हजार रूपये) का अर्थदण्ड आरोपित गया। उमाकान्त जिन्दल, अपर जिला जज द्वितीय, अम्बेडकरनगर द्वारा 01 वाद का निस्तारण करते हुये रू0 1,000/- (एक हजार रूपये) का अर्थदण्ड आरोपित गया।  फरीदा बेगम, अपर जिला जज पॉक्सो I द्वारा 03 वादों का निस्तारण करते हुए रू0 1500/- (एक हजार पांच सौ रूपये) का अर्थदण्ड आरोपित किया गया। श्रीमती पूजा विश्वकर्मा, अपर प्रधान न्यायाधीश, पारिवारिक न्यायालय, अम्बेडकरनगर द्वारा 24 पारिवारिक वादों का निस्तारण किया गया इसमें से 04 दम्पत्तियों जो कि वर्षों से अलग-अलग रह रहे थे, एक साथ रहने को राजी हुए, अपर प्रधान न्यायाधीश, पारिवारिक न्यायालय ने सभी दम्पत्तियों को आशीर्वाद देकर विदा किया।

No comments