Header Ads

.

जिला संवाददाता :- पारसनाथ ✍️✍️✍️✍️ न्यूज 24 इंडिया । जनपद अंबेडकर नगर । उत्तर प्रदेश। बिहार के पूर्व मंत्री अब्दुल कय्यूम अंसारी वंचित समाज के नेता थे - मो जियाउद्दीन अंसारी

बिहार के पूर्व मंत्री अब्दुल कय्यूम अंसारी वंचित समाज के नेता थे - मो जियाउद्दीन अंसारी                                                   
अम्बेडकरनगर, 1 जुलाई, बिहार के पूर्व मंत्री, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी अब्दुल कय्यूम अंसारी वंचित समाज की आवाज़ बने, वो जनता के नेता थे  विशेष रूप से वंचित और गरीब लोगों के सबसे करीब थे उक्त बाते अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष मो जियाउद्दीन अंसारी ने कही।                                                      उन्होंने कहा वो अपने जीवन पर्यंत कांग्रेस के सच्चे और वफादार नेताओं में से एक थे, लगभग सभी मुख्यमंत्रियों के मंत्रिमंडल में वो कैबिनेट मंत्री रहे।                          जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष सै मेराजुद्दीन किछौछवी ने कहा वह सभी समुदाय के गरीबों के लिए मसीहा थे दलितों, पिछड़ों और गरीबों के बारे में हमेशा फिक्रमंद रहते थे।                                                      जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राम कुमार पाल ने कहा अब्दुल कय्यूम अंसारी, एक महान राष्ट्रवादी और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की जयंती है वे देश की आजादी के लिए अपनी विलासितापूर्ण जिंदगी को छोड़कर 16 साल की उम्र में जेल भी चले गए।                                   वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम रसूल "छोटू", सुखीलाल वर्मा और अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला महासचिव मो सद्दाम ने कहा अब्दुल कय्यूम अंसारी ने 
जिन्ना के दो राष्ट्र सिद्धांत का किया विरोध किया अब्दुल कयूम अंसारी वो पहले नेता हैं, जिन्होंने जिन्ना के दो राष्ट्र सिद्धांत का विरोध किया। गांधी जी और उनकी टीम से उन्होंने भारत को विभाजित न करने की बात कहीं। जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष /प्रवक्ता अवधेश कुमार मिश्र "बब्लू" ने बताया आज जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय पर अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष मो जियाउद्दीन अंसारी की अध्यक्षता और जिला सचिव शीतला प्रसाद श्रीवास्तव "सोनू" के संचालन में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री अब्दुल कय्यूम अंसारी का जन्मदिन मनाया गया। बहुमुखी प्रतिभा के धनी अब्दुल कय्यूम अंसारी एक कुशल पत्रकार, लेखक और कवि भी थे। वह पूर्ववर्ती दिनों में उर्दू साप्ताहिक “अल-इस्ला” (सुधार) और एक उर्दू मासिक् “मुस्वत” (समानता) के संपादक थे।                                 ।कार्यक्रम के दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम रसूल छोटू, सुखीलाल वर्मा, जिला सचिव शीतला प्रसाद श्रीवास्तव "सोनू", मो इलियास, मो अकबर, जिला महासचिव अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ मो सिद्दीक "सद्दाम", कुलदीप शर्मा, मो कलाम, नवी अहमद, सिद्दीक अहमद, शिवनाथ मौर्य, जलील आदि ने सम्बोधित किया।

No comments