Header Ads

.

*खाकी पर पड़ी आंच की सीओ सिटी को मिली जांच , सीडीआर उगलेंगे कई अहम राज*

*सुलतानपुर फ्लैश -*

*खाकी पर पड़ी आंच की सीओ सिटी को मिली जांच , सीडीआर उगलेंगे कई अहम राज*

*प्रतापगढ़ की वायरल रिवाल्वर रानी से कम नहीं पीड़िता की दास्तान , असलहे संग फोटो खिंचाती है पीड़िता*

सुलतानपुर । कोतवाली नगर थाना क्षेत्र के निराला नगर चौकी इंचार्ज विकास कुमार का विवादों से पुराना नाता रहा है , सुलतानपुर जनपद के बल्दीराय थाना क्षेत्र स्थित वल्लीपुर चौकी प्रभारी के तैनाती के दौरान अश्लील मैसेज पास करने को लेकर जांच की आंच से दो चार होना पड़ा था , जिसमें कथित तौर पर एक गैंगस्टर की गिरफ्तारी करने पर साजिश का शिकार होनें की बातें चर्चा की विषय बनी हुई थी , जिस पर तत्कालीन एसपी शिवहरि मीणा ने आरोपी दरोगा को लाईन हाजिर करते हुए , सीओ बल्दीराय को मामले की जांच सौंप दी थी ।

                       बताते चलें की अश्लीलता मामले में पूर्व में फसे चौकी प्रभारी निराला नगर विकास कुमार वर्दीधारी एक सिपाही की कारस्तानी का शिकार हो चुके हैं जिनको पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन कुमार मिश्रा द्वारा लाईन हाजिर किया जा चुका है । विभागीय सूत्रों की मानें तो कथित तौर पर वर्दीधारी लाईन हाजिर होने के बाद खाकी को ही शर्मसार करने का तानाबाना बुनने लगा और आखिरकार अश्लीलता फैलाने के मामले में चौकी इंचार्ज विकास कुमार पर कथित तौर पर अश्लीलता के आरोप एक महिला के द्वारा लगाए गए हैं , जिसकी जांच के आदेश एसपी विपिन कुमार मिश्रा द्वारा सीओ सिटी राघवेन्द्र चतुर्वेदी को दिए जा चुके हैं । सीओ राघवेंद्र चतुर्वेदी की प्राथमिक जांच में चौंकाने वाले कई अहम रोल सामने आएं हैं जिसपर वैज्ञानिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए परिक्षण भी कराया जा सकता है । जिसमें पीड़िता का मोबाइल सीडीआर , लाईन हाजिर होने वाले आरक्षी समेत एक करौंदिया निवासी स्थानीय बालक की जांच पुलिस के दायरे में प्राथमिकता के तौर पर देखी जा रही है । सूत्र तो यहां तक बतातें हैं कि एसपी की कार्यवाही के जद में आए आरक्षी का विवादों से पुराना नाता रहा है जिस पर समय रहते विभाग ने ही पल्ला डाला था , आरक्षी पर एक्सटॉर्शन समेत गुंडागर्दी के आरोप लगे हैं जिसकी ऑडियो क्लिप भी वायरल हुई लेकिन आकाओं के रहनुमाई में कार्यवाही दमतोड़ती नजर आई । जिसने आज खुद ही खांकी को शर्मसार करने की कवायद रच डाली , फिलहाल सीओ सिटी को मिली जांच में कईयों पर आंच आना लाजमी है । जिसको लेकर एक धड़ा सियासी जुगलबंदी करने में जुटा है तो दूसरी तरफ इस तानेबाने के अहम किरदार मामले से किनारा कसते नजर आ रहे हैं ।
                              
                            तो वहीं दूसरी तरफ दरोगा के खिलाफ आरोप लगाने वाली पीड़िता का शोसल मीडिया पर असलहे संग वायरल फोटो ने सियासी महकमे में भूचाल ला दिया है फिलहाल जिसकी प्रमाणिकता की पुष्टि अभी तक नहीं की जा सकी है , जहां शिकायत करने एसपी ऑफिस पहुंची पीड़ित के साथ रहने वालों की कुंडली पुलिस खंगालने में जुट गयी है जिन पर गम्भीर मुकदमों की एक लम्बी फेहरिस्त बताई जा रही है ।

No comments