Header Ads

.

*प्रशासन की सुस्ती से जिले में कदम दर कदम पर लॉकडाउन की उड़ाई जा रही धज्जियां*

अंबेडकर नगर

*प्रशासन की सुस्ती से जिले में कदम दर कदम पर लॉकडाउन की उड़ाई जा रही धज्जियां*

अंबेडकरनगर। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन 17 मई तक कर दिया लेकिन अम्बेडकर नगर के लोग फिर भी इसका पूर्णरूप से पालन करने को तैयार नहीं हैं।प्रदेश में दस मई तक लॉकडाउन था लेकिन मुख्यमंत्री अब 17 मई तक कर दिया। लेकिन जिले में न तो लोग और न ही व्यवसायी इसको मानने को तैयार हैं।जिन व्यवसाइयों की घर मे दुकानें हैं वह तो अपनी दुकानें खोलकर प्रतिदिन की भाँति कारोबार चला रहे हैं।उन पर भीड़ लग रही है।इनकी देखा देखी अन्य दुकानदार भी अपनी दुकानों के आगे बैठे देखे जा सकते हैं।कोई ग्राहक आता है तो इधर उधर पुलिस तो नहीं आ रही है देखकर शटर उठाकर सामान बेच रहे हैं।पुलिस आने पर भाग जाते हैं। तो वही दूसरी तरफ प्रशासन के सुस्ती से कोरोना की चेन तोड़ने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से घोषित लॉकडाउन की मंशा जिले में तार-तार हो रही है। जिले में कदम दर कदम लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। प्रमुख बाजारों व मार्गों पर आम दिनों की तरह ही लोगों का आवागमन हो रहा है। सड़कों पर दो व चार पहिया वाहन धड़ल्ले से दौड़ रहे हैं। इनमें कुछ ऐसे भी होते हैं, जो मास्क तक नहीं लगाए रहते। ट्रिपल राइडिंग करते हुए लोग प्रमुख चौराहों से गुजर जाते हैं, लेकिन वहां तैनात पुलिस कर्मियों को किसी भी प्रकार की कार्रवाई करने की सुध नहीं है। प्रमुख चौराहों पर बैरियर तो लगा दिए गए हैं, लेकिन वहां तैनात पुलिसकर्मी लॉकडाउन का पालन कराने को लेकर गंभीर नहीं हैं।कोरोना को फैलने से रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन घोषित कर रखा है। इस दौरान आवागमन पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा रखा है। शासन के तमाम दिशा निर्देशों के बावजूद जिले में लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने को लेकर कोई सुध नहीं ली जा रही है। जिले में कदम दर कदम लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। धड़ल्ले से लोग दो व चार पहिया वाहन लेकर सड़कों पर दौड़ रहे हैं, तो प्रमुख बाजारों में भी आम दिनों की तरह ही लोगों की भीड़ रहती है। कहने को दुकानें पूरी तरह बंद हैं, लेकिन जरूरत के अनुसार दुकानें खुल जाती हैं।ट्रिपलिंग करते हुए बगैर मास्क के लोग प्रमुख चौराहों से आसानी के साथ गुजर जाते हैं। इन सबके बावजूद जिम्मेदारों को किसी भी प्रकार की कार्रवाई की सुध नहीं है। दो दिन पूर्व लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस प्रशासन सख्त हुआ था, लेकिन अब एक बार फिर से पूरी तरह लापरवाही का माहौल हो गया है।रविवार को जब जिला मुख्यालय के ही अलग-अलग क्षेत्रों का जायजा लिया गया, तो जगह-जगह लॉकडाउन की धज्जियां उड़ती दिखीं। पुराने तहसील तिराहा, फव्वारा तिराहा, दोस्तपुर चौराहा, पटेलनगर तिराहा समेत कई अन्य स्थानों पर धड़ल्ले से वाहनों का आवागमन हो रहा था, लेकिन उन्हें रोकने वाला कोई नहीं था।
आम नागरिकों का कहना है कि इस प्रकार से बरती जा रही लापरवाही से कोरोना को फैलने से नहीं रोका जा सकेगा। इस प्रकार का हाल सिर्फ जिला मुख्यालय का ही नहीं, बल्कि अन्य छोटी-बड़ी बाजारों में भी है। उधर, एएसपी संजय राय ने बताया कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई भी की जा रही है।

No comments