Header Ads

.

*आज रात बरसात व तेज हवाओं के साथ मौसम ने बदला मिजाज*

अंबेडकर नगर
*आज रात बरसात व तेज हवाओं के साथ मौसम ने बदला मिजाज*
 अम्बेडकरनगर। शनिवार व रविवार को आसमान में बादल के साथ हुई बरसात ने मौसम के सख्त मिजाज को कुछ नरम रखा। बीते दो दिनों के दौरान तापमान ने 35 डिग्री से अधिक बढ़त दर्ज नहीं की। रविवार को भी सुबह 10 बजे तक छिटपुट बादलों के बीच तपमान 32 डिग्री तक दर्ज किया गया। इसके बाद निकली तेज धूप ने दोपहर 3 बजे तक पारे में सात डिग्री की बढ़ोत्तरी दर्ज करा दी। इसके बाद शाम 4 बजे तापमान 37 डिग्री टच कर गया। इस दौरान उमस एक बार फिर बढ़ गई। जिससे आमजनमानस ने असहज महसूस किया। तेज धूप के बीच बादलों का आवागमन बना रहा। जिससे आमजनमानस बेचैन रहा। शनिवार दोपहर बाद आई तेज आंधी और बारिश से बड़े पैमाने पर तबाही हुई। प्रकृति के कोप का असर दिखा गया। जिले में कई क्षेत्रों के अंतर्गत पेड़ गिरे और बिजली के खंभे उखड़ गए। इसके साथ ही कई जगह आधा किमी तक बिजली के तार टूट गए, जिससे उन क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति पूरी तरह बाधित रही।शहर के अलावा क्षेत्रों में आंधी तूफान का व्यापक असर बड़े पैमाने पर देखा गया। जहां आंधी से बड़े पेड़ व बिजली के खंभे जहां तहां उखड़ गए। जिसे हटाने में विभाग के जिम्मेदार सुस्त रहे। खंभे व तार आदि टूटने के कारण अकबरपुर,50 नम्बर ट्यूबल आदि क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति भी बाधित रही। आंधी पानी के कारण जिले सभी तहसीलों व ब्लॉक क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुए क्षेत्र में तेज आंधी, व बारिश से किसानों का भारी नुकसान हो गया। जिसमें किसानों की तरबूज, खरबूजा, ककड़ी और मक्का, मूंग, उडद आदि फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है।अकबरपुर में ग्लोबल विजडम स्कूल के बगल तीन खम्बे उड़ कर उखड़ गए जिससे बिजली आपूर्ति ठप हो गयी। जहां बिजली विभाग के कर्मचारियों ने बिजली की लाइनों की मरम्मत का कार्य शुरू किया और दोपहर बाद कुछ क्षेत्रों में सप्लाई बहाल हो पायी। लेकिन दूरदराज के क्षेत्रों में अभी भी बिजली ठप चल रही है। विभाग के कर्मचारी व अधिकारी लाइनों को ठीक करने में लगे हैं। तेज हवा से फतेहपुर गांव निवासी नीतू के घर की टीन शेड व छप्पर उड़ गए। पुरवा में कई जगहों पर पेड़ गिर गए। सड़क पर जहां पेड गिरे। वहां वाहन यातायात को जाम का सामना करना पड़ा हालाँकि कोरोना कर्फ्यू में अधिक वाहन सड़को पर नही चल रहे है। सक्रिय जिम्मेदारों ने जहां कुछ जगहों पर सड़क पर गिरे पेड़ व बिजली खंभे आदि उठा लिए। वहीं कई जगहों पर जिम्मेदार अपने दायित्व से बेखबर रहे। जिससे जनता को बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

No comments