Header Ads

.

*यूपी पंचायत चुनाव: गोरखपुर में मतगणना में हेराफेरी का आरोप, भीड़ ने पुलिस चौकी और गाड़ियां फूंकी*

*यूपी पंचायत चुनाव: गोरखपुर में मतगणना में हेराफेरी का आरोप, भीड़ ने पुलिस चौकी और गाड़ियां फूंकी*

यूपी पंचायत चुनाव के रिजल्ट जारी करने के दौरान गोरखपुर जिले में बवाल हो गया. हारने वाले प्रत्याशी को जीत का सर्टिफिकेट देने का आरोप लगाते हुए एक पक्ष ने रोड जाम कर दिया. विरोध के दौरान नई बाजार चौकी को प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया.

आपको बता दें कि ये पूरा मामला गोरखपुर के ब्रह्मपुर ब्लॉक का है, जहां मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने जमकर हंगामा काटा. आरोप है कि हारे हुए प्रत्‍याशियों को जीत का सर्टिफिकेट दे दिया गया. आरोप लगाने वाले दो प्रत्‍याशी और उनके समर्थक ब्रह्मपुर ब्‍लाक के नई बाजार में धरने पर बैठ गए और सैकड़ों समर्थकों के साथ चक्‍काजाम कर दिया. 

धरना और चक्‍काजाम करने वाले प्रत्‍याशी और उनके समर्थकों का गुस्‍सा भड़क गया और उन्‍होंने झंगहा थाने की नई बजार पुलिस चौकी के साथ पीएसी के एक ट्रक और चौकी पर खड़ी बाइक को आग के हवाले कर दिया. नई बाजार में कई वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई.

*पुलिस चौकी को आग के हवाले किया*

जानकारी के मुताबिक, झंगहा थानाक्षेत्र के ब्रह्मपुर ब्‍लाक में वार्ड नंबर 60 से चुनाव लड़ने वाले रवि निषाद और वार्ड नंबर 61 से चुनाव लड़ने वाले कोदई निषाद ने जीत के बावजूद उनके प्रतिद्वंदी राम गोपाल यादव और रमेश उर्फ गब्‍बर यादव को जीत का सर्टिफिकेट देने का आरोप लगाया. रवि निषाद का आरोप है कि वार्ड नंबर 60 से बसपा के समर्थन से चुनाव लड़े. उन्‍होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी राम गोपाल यादव को 3750 मतों से पराजित कर दिया. आरोप है कि इसके बावजूद राम गोपाल यादव को विजयी घोषित कर दिया गया.

रवि निषाद के भाई नंद किशोर के समर्थक सुनील ने बताया कि रवि निषाद चुनाव जीत चुके थे. इसके बावजूद उन्‍हें हराया जा रहा है. राम गोपाल यादव को जीत का सर्टिफिकेट दे दिया गया. यही वजह है कि वहां पर धरना-प्रदर्शन किया जा रहा है. इसी तरह वार्ड नंबर 61 से चुनाव लड़ने वाले कोदई निषाद और उनके समर्थकों का आरोप है कि उनकी 235 वोट से जीत होने के बावजूद रमेश उर्फ गब्‍बर यादव को जीत का सर्टिफिकेट दे दिया गया. उनके समर्थक प्रकाश ने बताया कि जीत के बावजूद रमेश उर्फ गब्‍बर यादव को सर्टिफिकेट दे दिया गया.

*आगजनी और तोड़फोड़*

इसके बाद बुधवार को दोपहर 2 बजे के बाद से ही ब्रह्मुपर ब्‍लाक और झंगहा थाने के नई बाजार में धरना-प्रदर्शन और चक्‍काजाम कर प्रत्‍याशी और उनके समर्थक विरोध जताने लगे. शाम ढलने के साथ ही नई बाजार पुलिस चौकी को शाम 4.30 बजे तक आग के हवाले कर दिया गया. इस दौरान चौकी पर खड़ी पीएसी की ट्रक और कई बाइक को आग के हवाले कर दिया गया. धरना-प्रदर्शन और चक्‍काजाम ने उपद्रव का रूप ले लिया. चारो तरफ अफरा-तफरी का माहौल हो गया. उपद्रवियों ने सड़क पर कई वाहनों में भी तोड़फोड़ की.

इधर, घटना की सूचना मिलने के बाद कई थानों की पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के साथ आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए और स्थिति को नियंत्रण में करने के प्रयास में जुट गए. उप‍द्रवियों का उग्र रूप देखकर कई पुलिसवाले तो मौके से भाग खड़े हुए. हालांकि, देर शाम तक पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में कर लिया. लेकिन, अभी भी तनाव बना हुआ है और आसपास रहने वाले दहशत में हैं.

No comments