Header Ads

.

*रैपिड एंटीजन किट की कमी से सैंपलिग की प्रक्रिया सम्पूर्ण तरीके से लड़खड़ाई*

अंबेडकर नगर
*रैपिड एंटीजन किट की कमी से सैंपलिग की प्रक्रिया सम्पूर्ण तरीके से लड़खड़ाई*
अंबेडकरनगर।कोविड-19 कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने से लोग जरा भी लक्षण दिखने पर सैंपल जांच कराने पहुंच रहे हैं। इसलिए टेस्टिग सेंटर में भीड़ लगने लगी है पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से रैपिड एंटीजन किट की पर्याप्त सप्लाई नहीं किए जाने से सैंपलिग की प्रक्रिया लड़खड़ा गई है। जिला अस्पताल में रैपिड एंटीजन सैंपलिगकीबजाएआरटी-पीसीआर और ट्रूनेट सैंपल लेकर जांच की जा रही है पर कई लोग यह सैंपल देने से कतरा रहे हैं, क्योंकि इनकी रिपोर्ट देर से आती है। ऐसे में लोगों को रिपोर्ट के इंतजार में पेनिक होना पड़ जाता है।आरटी-पीसीआर और ट्रूनेट सैंपलिग अधिक होने की वजह से लैब का वर्क लोड बढ़ गया है। संक्रमण का दायरा बढ़ने की वजह से सैंपलिग की संख्या बढ़ानी जरूरी है।एक तरफ जिले में कोरोना संक्रमणदिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है तो दूसरी तरफ कोरोना की जांच को लेकर लापरवाही बरती जा रही है। जांच को लेकर स्वास्थ्य विभाग कितना गंभीर है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जिला अस्पताल में लगभग एक पखवाड़े से एंटीजन किट समाप्त है, लेकिन उसे उपलब्ध कराने को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। एंटीजन जांच ठप होने से लोग अस्पताल से मायूस होकर लौट रहे हैं। इतना ही नहीं, दूसरे राज्यों से ट्रेन से आने वाले यात्रियों की भी एंटीजन जांच अकबरपुर रेलवे स्टेशन पर नहीं हो रही है। मात्र थर्मल स्क्रीनिंग से ही काम चलाया जा रहा है।जिले में कोरोना की जांच को लेकर पूरी तरह लापरवाही बरती जा रही है। पूर्व की तुलना में मौजूदा समय में जांच का कार्य अत्यंत धीमा हो गया है। एंटीजन जांच तो लगभग 16 दिन से जिले में ठप पड़ी है। मात्र आरटीपीसीआर जांच से ही काम चलाया जा रहा है। हालांकि इस जांच को लेकर भी लापरवाही है। अत्यंत गंभीरमरीजोंकीहीआरटीपीसीआर जांच की जा रही है। जिला अस्पताल में लगभग एक पखवाड़े से एंटीजन किट समाप्त हो जाने के चलते एंटीजन जांच का कार्य ठप पड़ा है, तो आरटीपीसीआर जांच भी सीमित कर दी गई है।
नतीजा यह है कि अब जांच के लिए जिला अस्पताल पहुंचने वाले नागरिकों की संख्या भी कम हो गई है। और तो और दूसरे राज्यों से ट्रेन से अकबरपुर आने वाले यात्रियों की अकबरपुर रेलवे स्टेशन पर एंटीजन जांच नहीं हो रही है। मात्र थर्मल स्क्रीनिंग से ही काम चलाया जा रहा है। कोरोना को लेकर बरती जा रही लापरवाही से आम नागरिकों में नाराजगी है। उनका कहना है कि इस प्रकार की लापरवाही से कोरोना पर अंकुश नहीं लगाया जा सकता है। उधर, सीएमएस डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि जिला अस्पताल में एंटीजन किट समाप्त होने के चलते आरटीपीसीआर जांच ही की जा रहीहैएंटीजन किट के लिए शासन को पत्र भेजा गया है

No comments