Header Ads

.

*बोरों के आभाव में सुस्त है गेँहू क्रय*

अंबेडकर नगर

*बोरों के आभाव में सुस्त है गेँहू क्रय*

अम्बेडकरनगर।किसानों कोे फसल का उचित मूल्य दिलाने की सारी कवायद पर पानी फिरता नजर आ रहा है। कटेहरी ब्लाक के विभिन्न इलाकों मेें स्थापित गेहूं क्रय केंद्रों पर बोरे का अभाव होने से किसानों को बैरंग लौटना पड़ रहा है। जबकि कागज में हर दिन खरीद हो रही है। क्रय केंद्रों पर खरीदे गए गेहूं डंप पड़ा है।तो कही जगह न होने से भी खरीद नहीं हो पा रही है। कई क्रय केंद्रों पर किसान आंदोलन करने को भी सोच रहे है।बेरंग बरसात के मौसम में किसानों की मेहनत पर पानी फिर जा रहा इसके बाद भी आला अधिकारी मौन हैं।कटेहरी ब्लॉक में लगभग 50 हजार क्षेत्रफल से ज्यादा भूमि में गेहूं का उत्पादन होता है। प्रशासन की ओर से किसानों को उचित मूल्य दिलाने के लिए चार क्रय केंद्रों की स्थापना की गई है। लेकिन अधिकांश केंद्रों पर किसानों को आए दिन बैरंग लौटना पड़ रहा है। धन व बोरा न होने का रोना रोया जा रहा है। इस वर्ष गेहूं की फसल का रिकार्ड उत्पादन हुआ है। किसानों की मानें तो प्रशासन की ओर से कागजी कार्यवाही तो हो रही है परन्तु जमीनी कार्यवाही न हो पाने से किसानों की जान लेने पर तुली है। परेशान किसानों ने अब यदि आंदोलन करेंगे तो आला अधिकारियों की नींद टूट जाएगी तभी किसानों की समस्याओं का समाधान हो पाएगा ऐसी सोच केंद्र पर से लौटने वालें किसान सोच रहे हैं।जी,हाँ कटेहरी ब्लॉक में अटवाई, कटेहरी संघ व कटेहरी साधन सहकारी गेँहू क्रय केंद्र बनाए गए। लेकिन इन समितियों पर गेहूं क्रय करने के लिए बोरा ही उपलब्ध नहीं है। आंकड़ों पर नजर डाला जाए तो अब तक कटेहरी संघ में कुल लगभग 130 किसानों से कुल 4500.50 कुंतल की खरीदारी की गई है। जिसमें से अब तक 1785 कुंतल तक की गोदाम को प्रेषण किया जा सका है। इस संबंध में किसान सुरेश, रामविलास, राजेश , राम मूरत ने कहा कि क्रय केंद्रों पर बोरा कब आ रहा है लोगों को पता नहीं चल पा रहा है। जबकि बिचौलियों का गेहूं खरीद लिया जा रहा है। किसानों को उचित मूल्य दिलाने के लिए आढ़तियोें को लाइसेंस जारी किया गया लेकिन किसानों का कोई लाभ नहीं मिल पा रहा है। इस पर सम्बंधित अधिकारी से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि कल गेँहू की बोरों की उपलब्धता कराई जाएगी।

No comments