Header Ads

.

शिक्षा प्रेरकों की समस्याओं को अनदेखा कर रही केंद्र और राज्य सरकार

*अम्बेडकरनगर/ शिक्षा प्रेरक संघ के जिला अध्यक्ष राहुल पांडेय ने प्रधानमंत्री के नाम का ज्ञापन एसडीएम टाण्डा को सौंपा* 
*अम्बेडकरनगर उत्तर प्रदेश*
 
आदर्श लोक शिक्षा प्रेरक वेलफेयर एसोसिएशन जनपद अंबेडकर नगर के शिक्षा प्रेरक संघ के जिला अध्यक्ष राहुल पांडेय ने शिक्षा प्रेरक भाई एवं बहनों के दुख दर्द को बताने के लिए एवं उनका 30 महीने का बकाया मानदेय दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का ज्ञापन एसडीएम टाण्डा को सौंपा। आपको बताते चलें शिक्षा प्रेरकों ने हर घर में शिक्षा की अलख जगाने का कार्य किया था जिससे निरक्षरता रूपी अंधकार को देश से मिटाया जा सके । कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने 15 से 35 साल की लोगों को साक्षर करने का कार्य किया वही इनका कार्य परिवारिक सत्यापन , एवं BIO में भी लगाया गया । इन्होंने अपना कार्य बखूबी ईमानदारी से निभाया लेकिन वर्तमान सरकार ने इनकी अनदेखी करते हुए 31मार्च 2018 को बिना किसी पूर्व सूचना दिए इनकी संविदा समाप्त कर दी और 30 महीने का बकाया मानदेय भी नहीं दिया। जानने वाली बात यह है 2000 रूपये प्रतिमाह पर  ड्यूटी करने वाले शिक्षा प्रेरक बेरोजगार होकर अपनी रोजी-रोटी के लिए जहां तरस रहे हैं वहीं प्रशासन के सामने अपनी मजबूरी रखने का कोई भी कोर कसर नहीं छोड़ा। जबकि वर्तमान सरकार ने चुनाव से पहले लखनऊ के झूलेलाल पार्क में 3अप्रैल 2016 को संविदा कर्मियों को स्थाई कर्मचारी नियुक्त करने का वादा किया था। लेकिन यह वादा जमीनी हकीकत पर सही नहीं उतर सका । इनकी संविदा ही समाप्त करके इनको बेरोजगार कर दिया । अस्तु संविदा बहाली को लेकर प्रधानमंत्री के नाम का ज्ञापन एसडीएम टाण्डा को सौंपा गया है। देखने वाली बात यह की इन मजबूरों का सहारा यह सरकार बनेगी या नहीं अपने वचनों पर खरा उतरती है या फिर से  जुमला ही मिलेगा।

No comments