Header Ads

.

अकबरपुर हाइडिल के जे.ई. व एस.डी.ओ. की दरियादिली बनी चर्चा का विषय

अकबरपुर हाइडिल के जे.ई. व एस.डी.ओ. की दरियादिली बनी चर्चा का विषय*

*शाबास सज्जाद खाँ, शाबास रमेश कुमार मौर्य*

*स्वयं के पैसे से स्वच्छता एवं ए.बी.सी. लगाने का कार्य किया शुरू*

*महादानी हाइडिल के इंजीनियरों की हो रही है जयजयकार*

उत्तर प्रदेश सूबे के जनपद अम्बेडकरनगर के बिजली विभाग में तैनात/कार्यरत एक अवर अभियन्ता और उपखण्ड अधिकारी अपनी दरियादिली के लिए सुर्खियों में आ गये हैं। जैसी कि आम अवधारणा है कि बिजली विभाग सबसे भ्रष्टतम विभागो में से एक है और इसमें कार्यरत हर मुलाज़िम स्वयं की तिजोरी भरने के लिए लालायित रहता है। इसके विपरीत इन दो अभियन्ताओं की कोरोना काल में दिखाई जाने वाली कथित दरियादिली चर्चा का विषय बनी हुई है। 
सूत्रों से पता चला है कि अकबरपुर विद्युत वितरण खण्ड के उपखण्ड अधिकारी सज्जाद खाँ और अकबरपुर नगर के अवर अभियन्ता रमेश कुमार मौर्य ने 5 साल तक विभाग में रहते हुए अपने द्वारा अर्जित किये गये धन से उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली सप्लाई मिल सके इसके लिए एरियल बंच कंडक्टर्स (ए.बी.सी.) लगवाने का बीड़ा उठा लिया है। यही नहीं इन दोनों अभियन्ता नें विद्युत खम्भो तथा ट्रान्सफार्मरों के इर्द-गिर्द साफ-सफाई करवाने का भी जिम्मा उठा रखा है। सूत्रों के अनुसार इन दोनों अभियन्ताओं ने शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में तैनात लाइन स्टाफ से सहयोग की राशि भी बढ़ा दिया है। हालांकि दर्जनों लाइन स्टाफ इन दोनों के इस कृत्य से नाखुश भी हैं, लेकिन क्या करें। परम्परानुसार उन्हें सौजन्य शुल्क तो देना ही है। कथित रूप से घाटे में चल रही यू.पी.पी.सी.एल. के इन दो अभियन्ताओं की यह पहल एक मिशाल बनने लगी है। इन दोनों के द्वारा उपभोक्ता हित में बिजली महकमे को लाखों रूपया दान दिया जाना लोगों की जुबान पर आने लगा है। 
आजकल अकबरपुर शहर के विभिन्न विद्युत पोषक क्षेत्रों में विभागीय/संविदा लाइन स्टाफ द्वारा ए.बी.सी. लगाये जाने का कार्य अवर अभियन्ता रमेश मौर्य की देख-रेख में शुरू कर दिया गया है। सब डिवीजन के अभियन्ता एस.डी.ओ. अकबरपुर सज्जाद खाँ द्वारा बड़ी तत्परता और तल्लीनता के साथ ए.बी.सी. लगवाने व पुरानों को बदलवाने का कार्य किया जा रहा है। ए.बी.सी. लगवाने का यह कार्य इनके द्वारा दिये गये दान के पैसे से हो रहा है। मीडिया को उक्त खबर जिसे विभाग के कतिपय लाइनमैनों और अन्य से मिली इसकी पुष्टि और धन्यवाद ज्ञापित करने के लिए जब इन दोनों अभियन्ताओं से दूरभाषीय सम्पर्क किया गया तब इनके सी.यू.जी. नम्बर पूर्व की तरह नहीं उठे। वास्तविकता की पुष्टि नहीं हो सकी। इस बावत जानकारी के लिए जब अकबरपुर विद्युत वितरण खण्ड के अधिशाषी अभियन्ता चौधरी विनय कुमार पटेल और अधीक्षण अभियन्ता (अकबरपुर मण्डल) ए.के. के सी.यू.जी. नम्बर पर कॉल की गई तो नो रिप्लाई, यानि सम्पर्क सम्भव नहीं हो सका।
*रिपोर्ट- दिलीप कुमार भास्कर जिलासंवादाता न्यूज 24 इन्डिया अम्बेडकरनगर उ.प्र.*

No comments