Header Ads

.

आगराः प्यार के शहर में मानवता शर्मसार, ताजमहल के पास तीन दिन तक पड़ा रहा भिखारी का शव

प्यार की नगरी कहे जाने वाले उत्तर प्रदेश के आगरा में संवेदनहीनता की झकझोर देने वाली घटना सामने आई है। शहर के थाना रकाबगंज क्षेत्र में ताजमहल से कुछ ही दूरी पर एक भिखारी का शव तीन दिन तक पड़ा रहा लेकिन किसी के दिल में प्यार और दया का भाव नहीं आया। इस दौरान लोग उधर से निकलते रहे लेकिन किसी को उस पार्थिव शरीर पर ध्यान देने की जरूरत महसूस नहीं हुई।

मानवता को शर्मसार करने वाले इस मामले से प्यार-मोहब्बत की नगरी के लोगों की संवेदनशीलता पर सवाल उठने लगे हैं। मंगलवार दोपहर को एक मीडियाकर्मी की नजर भिखारी के शव पर पड़ी तो उसके दिल में दया का भाव आ गया। उसने तत्काल पुलिस को इसकी सूचना दी। कुछ ही देर में सीओ सदर विकास जायसवाल पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने मीडियाकर्मी को धन्यवाद दिया और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार
भले ही लोगों के लिए यह एक भिखारी का शव हो लेकिन इंसानियत और मानवता के लिए यह एक सीख है कि मरने वाला एक इंसान है और इंसानियत के नाते मनुष्य को उस शव का अंतिम संस्कार कराना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इस मामले में सीओ ने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के भिजवाया गया है। रिपोर्ट आने पर पता लग सकेगा कि आखिर इसकी मौत किस वजह से हुई है?
*रिपोर्ट | भोवन सिंह ब्यूरो चीफ आगरा उ0प्र0*
( *NEWS 24 INDIA न्यूज चैनल*)

No comments