Header Ads

.

मधुमेह के लिए उपयोगी है पादहस्तासन-योगी महेश

पादहस्तासन-
विधिः-
1- दोनों पाँव मिलाकर सीधे खड़े हो जायें।
2- धीरे-धीरे श्वास भरते हुये और बाजुओं को सीधा रख ऊपर कानों के पास ले जायें।
3- धीरे-धीरे श्वास छोड़ते हुये, बाजु सीधी रखते हुये, कमर से ऊपर के हिस्से को आगे की तरफ झुकायें।
4- दोनों हाथों से पैरों के अंगूठों को छूने का प्रयत्न करें। सामान्य श्वास लेते रहें। क्षमतानुसार 1-3 मिनट तक रुकें।
6- श्वास भरते हुये बाजु वापिस कानों के पास लें जायें।श्वास छोड़ते हुये हाथों को वापिस लायें।
लाभः
1- *कमर को पतला व मेरुदण्ड को स्वस्थ एंव लचीला बनाता है।*
2- मधुमेह को नियंत्रण करने में सहायक।
3- कब्ज, अपच व गैस को रोगियों के लिये लाभदायक।
4-रक्त संचार, मस्तिष्क की तरफ होने से चेहरे की चमक बढ़ाता है।
5- पेट की चर्बी कम करता है।बच्चों का कद बढ़ाने में सहायक।
7- ज़ंघा व पिण्डलियों की माँसपेशियों को ताकतवर बनाता है।
सावधानियाँः-
1- श्वास नाक से लें और नाक से ही छोड़ें।
2- पाँव न छुए जायें तो घबरायें नहीं और न ही जबरदस्ती छुने की कोशिश करें। निरन्तर अभ्यास से सफलता मिल जायेगी।
3- सफलता उपरान्त हथेलियों को पैरों की साईड पर और मस्तक घुटनों से लगाने का प्रयास करें
ब्यूरो रिपोर्ट न्यूज़24 इंडिया प्रयागराज यू0पी0

No comments