Header Ads

.

कोरोना से बचाव के लिए कितना रखें एसी का तापमान, सरकार ने जारी की गाइडलाइन


आगरा कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए सरकार की तरफ से पूरे देश में लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग लागू की जा चुकी है, जो कि 3 मई तक जारी है। इसके अलावा, भारत सरकार समय-समय पर कोविड- 19 से बचाव और इसे फैलने की हर आशंका को खत्म कर देने के लिए गाइडलाइन और दिशा-निर्देश जारी करती रहती है। जैसा कि, देश में अभी गर्मी का मौसम नजदीक आता जा रहा है, वहीं लोगों में एसी, कूलर और पंखे के इस्तेमाल को लेकर डर, शंका और सवाल बढ़ रहे हैं कि, क्या इनके इस्तेमाल से भी SARS-CoV-2 का खतरा बढ़ सकता है या इससे इस महामारी पर कोई प्रभाव पड़ता है क्या। सरकार ने लोगों के इस डर और सवालों को समझते हुए घरों में कूलर, पंखें और एसी के लिए गाइडलाइन जारी की है।

कोरोना से बचाव के लिए सरकार की कूलर, पंखा और एसी के लिए गाइडलाइन

कोरोना वायरस की महामारी के फैलने और गर्मी आने के साथ ही लोगों में कूलर, पंखा और एसी के इस्तेमाल से संबंधित अफवाहें, चिंता और सवाल लोगों के बीच घूम रहे थे। भारत सरकार ने इन सभी चिंताओं, अफवाहों और सवालों पर विराम लगाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इन गाइडलाइन में सरकार ने सबसे ज्यादा महत्व घरों में साफ व शुद्ध हवा के प्रवाह को दिया है। यह गाइडलाइन भारत की हीटिंग, रेफ्रिजरेटिंग और एयर कंडीशनिंग इंजीनियर्स सोसाइटी (ISHRAE) की मदद से तैयार की गई है। आइए, जानते हैं कि कूलर, पंखा और एसी के लिए गाइडलाइन के मुताबिक इनका तापमान या स्पीड कितनी रखनी चाहिए।

कितने तापमान में कितनी देर जिंदा रहता है कोई वायरस

सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइन में बताया गया है कि, तापमान किसी वायरस के जिंदा रहने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका अपनाता है। गाइडलाइन में बताया गया है कि, कोविड- 19 वायरस को लेकर चीन के 100 शहरों पर हुई स्टडी के मुताबिक, उच्च तापमान (Temperature) व उच्च आर्द्रता (Humidity) में इंफ्लुएंजा के फैलने की रफ्तार कम हो जाती है। वायरल कल्चर मेथड के इस्तेमाल से विभिन्न आरएच लेवल पर हुई स्टडी में सामने आया है कि, 7-8 डिग्री सेल्सियस का तापमान एयरबोर्न इंफ्लुएंजा (Airborne Influenza) के जिंदा रहने के लिए सबसे ज्यादा उचित होता है, वहीं 20.5 से 24 डिग्री सेल्सियस के सामान्य तापमान में उसके फैलने की रफ्तार कम हो जाती है और 30 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा तापमान में उसके ट्रांसमिशन की रफ्तार और कम हो जाती है। गाइडलाइन में कुछ हाल ही में हुई स्टडी के हवाला देते हुए बताया गया कि, SARS-CoV-2 यानी कोरोना वायरस 4 डिग्री सेल्सियस के तापमान में सतहों पर 14 दिन तक स्टेबल रह सकता है, वहीं 37 डिग्री सेल्सियस तक 1 दिन और 56 डिग्री सेल्सियस पर 30 मिनट तक जिंदा रह सकता है, जिसके बाद वह निष्क्रिय होने लगता है।

कोरोना से बचाव को एसी के लिए गाइडलाइन

कोरोना वायरस या किसी भी वायरस से बचाव के लिए सरकार ने एसी के लिए गाइडलाइन जारी करते हुए कहा है कि, घरों में इस्तेमाल किए जाने वाले एयर कंडीशनर्स को 24-30 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर इस्तेमाल करना चाहिए। इसके साथ ही आर्द्रता (humidity) 40-70 प्रतिशत के बीच होनी चाहिए और कमरे में एसी के साथ कुछ खिड़कियां थोड़ी-सी खोलकर रखनी चाहिए, ताकि प्राकृतिक हवा आती रहे और कमरे के अंदर की हवा साफ व स्वस्थ रहे। इसके साथ ही कोविड- 19 से बचाव के लिए अधिक सावधानी बरतने के लिए एयर कंडीशनर की सर्विस थोड़ी जल्दी करवाई जा सकती है, जिससे किसी भी वायरस के फैलने या उससे संक्रमित होने का खतरा कम हो जाए। इसके अलावा, ताजी हवा के लिए फैन फिल्टर का उपयोग किया जा सकता है, जिससे बाहरी धूल अंदर नहीं आती।

डेजर्ट और इवैपोरेटिव कूलर्स के लिए गाइडलाइन

सरकार की तरफ से कोविड- 19 से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन में घरों में इस्तेमाल होने वाले डेजर्ट व इवैपोरेटिव कूलर्स के इस्तेमाल पर भी सलाह दी है। इसमें बताया गया है कि, डेजर्ट व इवैपोरेटिव कूलर्स में एयर फिल्टर नहीं होते हैं, लेकिन उनके इंस्टॉलेशन के समय या बाद में एयर फिल्टर लगवाया जा सकता है। इस फिल्टर से बाहरी धूल अंदर नहीं आ पाती औऱ अंदर की हवा कीटाणुरहित रहती है। इसके अलावा, कूलर टैंक को कई बार पूरी तरह साफ करके डिसइंफेक्ट करना चाहिए। इसके साथ ही आर्द्र हवा को जाने के लिए कुछ खिड़कियां खुली रहनी चाहिए। पोर्टेबल इवैपोरेटिव कूलर का इस्तेमाल न करने की सलाह दी गई है।

कोविड- 19 से बचाव के लिए पंखों के लिए गाइडलाइन

सरकार के द्वारा कोरोना वायरस से बचाव के लिए पंखों के इस्तेमाल से जुड़ी गाइडलाइन में कहा गया है कि, पंखे चलाने के दौरान खिड़कियों को थोड़ा खुला रखना चाहिए। ताकि बाहर की साफ व ताजी हवा अंदर आ सके। इसके साथ ही आप एक्जॉस्ट फैन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे कमरे के अंदर अच्छा वेंटिलेशन बना रहे।

*रिपोर्ट | भोवन सिंह ब्यूरो चीफ आगरा*

( *NEWS 24 INDIA न्यूज चैनल*)

No comments