Header Ads

.

रेल मंत्रालय ने 6 राज्यों के 116 जिलों में लागू गरीब कल्याण रोज़गार अभियान ’की प्रगति की समीक्षा की उत्तर मध्य रेलवे ने प्रवासियों और अन्य लोगों के लिए

रेल मंत्रालय ने  6 राज्यों के  116 जिलों में लागू गरीब कल्याण रोज़गार अभियान ’की प्रगति की समीक्षा की 
उत्तर मध्य रेलवे ने प्रवासियों और अन्य लोगों के लिए 4.31 लाख मानवदिवस  रोजगार के अवसरों को  उत्पन्न करने के लिए MGNREGS के तहत 74 कार्यों की पहचान की
MGNREGS के अंतर्गत रु 862.23 लाख के कार्य यूपी के 21 जिलों, एमपी के 04 जिलों और राजस्थान के एक जिले में चिन्हित किए गए हैं।
20 जून को माननीय प्रधानमंत्री द्वारा उद्घाटित गरीब कल्याण रोज़गार अभियान छह राज्यों यानी उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश, उड़ीसा और झारखंड के 116 चिन्हित जिलों में चल रहा है।
रेल मंत्रालय ने 24 जून 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस मीटिंग के माध्यम से जोनल रेलवे और रेलवे सार्वजनिक उपक्रमों के साथ गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के  प्रगति की समीक्षा की थी। इस विषय पर अध्यक्ष रेलवे बोर्ड श्री विनोद कुमार यादव ने  ज़ोनल रेलों के महाप्रबंधकों , मण्डल रेल प्रबंधकों और पीएसयू के प्रबंध निदेशकों के साथ समीक्षा बैठक की। महाप्रबंधक  उत्तर मध्य एवं उत्तर रेलवे श्री राजीव चौधरी ने भी  वीडियो लिंक के माध्यम से इस बैठक में  भाग लिया।
गौरतलब है  कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 20 जून 2020 को बड़े पैमाने पर रोजगार और ग्रामीण लोक निर्माण अभियान प्रारंभ किया है  जिसका नाम गरीब कल्याण रोज़गार अभियान है, जो विनाशकारी कोविड-19 महामारी से प्रभावित प्रवासी श्रमिकों को  बड़ी संख्या में गांवों में आजीविका के अवसर प्रदान करेगी। 
अपने अधिकार क्षेत्र में चल रहे विभिन्न बुनियादी ढांचे और अन्य कार्यों में मजदूरों को संविदा के माध्यम  से  काम का अवसर प्रदान करने के अलावा, उत्तर मध्य रेलवे ने ऐसे भी कार्यों की पहचान की है जो MGNREGS के माध्यम से निष्पादित किए जा सकते हैं। यह कार्य (i)लेवल  क्रॉसिंग के लिए एप्रोच सड़कों के निर्माण  (ii) ट्रैक के किनारे नहर और नालों का विकास और सफाई, (iii) रेलवे स्टेशनों के लिए एप्रोच रोड का निर्माण और रखरखाव। (iv) ) मौजूदा रेलवे तटबंधों / कटिंगों की मरम्मत और चौड़ीकरण, (v) रेलवे की भूमि की सीमा पर वृक्षारोपण करना और (vi) मौजूदा तटबंधों / कटिंग/ पुलों के पास संरक्षण के कार्य हैं ।
उपरोक्त श्रेणियों में, उत्तर मध्य रेलवे ने 431115 मानव दिवसों  के बराबर कार्य अवसर प्रदान करने की क्षमता वाले  MGNREGS योजना के तहत निष्पादन के लिए प्रस्तावित 862.23 लाख के 74  कार्यों की पहचान की है। कुल चिन्हित कार्यों में से 05 पहले ही मंजूर हो चुके हैं और काम जल्दी शुरू होने की संभावना है और 69 को इस योजना के तहत मंजूरी के लिए भेजा जा  रहा है। MGNREGS के माध्यम से निष्पादन के लिए ये चिन्हित कार्य उत्तर प्रदेश के 21 जिलों, मध्य प्रदेश के 04 जिलों और राजस्थान के 01 जिलों में फैले हुए हैं।
 
Press Release                                 Date: 25.06.20

Ministry of Railways reviews progress of ‘Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan’ being implemented in 116 districts in 6 states

North Central Railway identified 74 works under MGNREGS to generate 4.31 lakhs mandays of employment opportunity for migrants and others 

Identified works under MGNREGS worth Rs.862.23 lakhs are spread over 21districts of UP, 04 districts of MP and one district of Rajasthan

Inaugurated by Hon'ble PM on 20th June, Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan is in operation in 116 identified districts of six states i.e., Uttar Pradesh, Bihar, Rajasthan, Madhya Pradesh, Orissa & Jharkhand.

Ministry of Railways on 24th June 2020 had reviewed the progress of Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan with Zonal Railways and Railway PSUs through video conference meeting. In this review meeting held by Chairman railway board Sri Vinod Kumar Yadav with General Managers (GMs) and Divisional Railway Mangers (DRMs) and Managing Directors (MDs) of PSUs regarding the progress of Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan , General Manager NCR & NR Sri Rajiv Chaudhry participated through video link.
It may be noted that Hon’ble Prime Minister Shri Narendra Modi launched a massive employment -cum- rural public works campaign named Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan to empower and provide livelihood opportunities in areas/ villages witnessing large number of returnee migrant workers affected by the devastating COVID-19 on 20th June 2020. 
Besides providing contractual work opportunity to labourers in various ongoing infrastructure and other works over its jurisdiction, North Central Railway has also identified no. of railway works which can be executed through MGNREGS. The works are related to (i) construction and maintenance of approach roads for level crossings, (ii) development & cleaning of silted waterways, trenches and drains along the track, (iii) construction and maintenance of approach road to railway stations, (iv) repair and widening of existing railway embankments / cuttings, (v) plantation of trees at extreme boundary of railway land and (vi) protection works of existing embankments/ cuttings/bridges.
In above categories, North Central Railway has identified a list of 74 works worth 862.23 lakhs proposed for execution under MGNREGS scheme with potential of providing work opportunityequivalent to 431115 mandays. Of total identified works 05 are already sanctioned and work is likely to start early and 69 are being processed for sanction under the scheme.Theseidentified works for execution through MGNREGSare spread over21 districts of  Uttar Pardesh , 04 districts of Madhya Pradesh&01 district of Rajasthan.

No comments