Header Ads

.

आगरा: निजी स्कूलों में प्रवेश ले सकेंगे 1648 गरीब परिवारों के बच्चे, निशुल्क मिलेगी शिक्षा शिक्षा अधिकार अधिनियम के तहत मांगे गए थे आवेदन, लॉटरी निकाली गई, बीएसए कार्यालय में सूची चस्पा की



आगरा में शिक्षा अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए गरीब परिवारों के बच्चों की ओर से किए गए आवेदन की पहली लॉटरी खुल गई है। इसमें 1648 बच्चों का चयन किया गया है। स्कूल खुलने पर यह कक्षा एक और इससे पूर्व प्राथमिक कक्षाओं में प्रवेश ले सकेंगे। इनको नि:शुल्क शिक्षा दी जानी है। 

चालू शैक्षणिक सत्र में योजना के तहत निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए बेसिक शिक्षा विभाग को कुल 4351 आवेदन प्राप्त हुए थे। इनका विभाग की ओर से सत्यापन कराया गया। इसमें 3964 आवेदक पात्र पाए गए। वहीं, 387 आवेदनों को निरस्त किया गया। 


मुख्य विकास अधिकारी के आदेश पर आठ जून को उपायुक्त स्वत: रोजगार की अध्यक्षता में बनी कमेटी के सामने लॉटरी निकाली गई। आवेदकों में से 41.57 फीसदी का चयन लॉटरी के माध्यम से किया गया है। चयनित बच्चों की सूची बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में चस्पा करा दी गई है।

स्कूल खुलने पर मिलेगा प्रवेश
बेसिक शिक्षा अधिकारी राजीव कुमार यादव का कहना है कि चयनित विद्यार्थी स्कूल खुलने पर प्रवेश ले सकेंगे। संबंधित स्कूलों को चयनित विद्यार्थियों के नाम उपलब्ध करा दिए जाएंगे। विभाग की वेबसाइट पर भी चयनित बच्चों व उनकी ओर से चुने गए स्कूलों का नाम डाल दिया गया है। स्कूलों को प्रवेश के संबंध में आदेश जारी कर दिया जाएगा। जिससे बच्चों के प्रवेश के लिए पहुंचने पर कोई परेशानी न हो। 

अभी भी आवेदन का मौका 

जो पात्र अभिभावक अभी तक आरटीई के तहत बच्चों का दाखिला निजी स्कूलों में कराने और नि:शुल्क पढ़ाने के इच्छुक हैं, उनके पास अभी भी मौका है। बेसिक शिक्षा अधिकारी का कहना है कि मंगलवार से साइट फिर खुल जाएगी। 

बच्चों की ओर से आवेदन किया जाएगा। अभी एक और लॉटरी निकाली जानी है। इसमें चयनित होने पर विद्यार्थी अपने आसपास के निजी स्कूलों में प्रवेश ले सकेंगे। प्रत्येक विद्यालय में कक्षा एक और पूर्व प्राथमिक कक्षा में गरीब परिवारों के बच्चों के प्रवेश के लिए आरक्षित है।

*रिपोर्ट | भोवन सिंह ब्यूरो चीफ आगरा उ0प्र0*
( *NEWS 24 INDIA न्यूज चैनल*)

No comments