Header Ads

.

आगरा में घर की बगिया संवारने में जुटे शहरवासी, नर्सरी में बढ़ी तुलसी की मांग 150 नर्सरी बंद पड़ी थीं ताजनगरी में 05 करोड़ का नुकसान लॉकडाउन

लॉकडाउन में बर्बादी के कगार पर पहुंच गए नर्सरी के कारोबार को कुछ राहत मिली है। लोग बारिश से पहले रोपने के लिए पौधे खरीदने पहुंच रहे हैं। घर की बगिया सजाने के लिए फूलों के पौधों की खरीदारी की जा रही है। लेकिन अभी भी यह इन दिनों में औसतन होने वाली खरीदारी का 25 फीसदी ही है। कारोबारियों का कहना है कि लॉकडाउन में हुए नुकसान की भरपाई में अभी काफी समय लगेगा।
तालाबंदी के दौरान शहर की लगभग 150 नर्सरी को काफी नुकसान पहुंचा था। लंबे समय तक देखभाल न होने के कारण अधिकांश पौधे खराब हो गए थे। धूप से जलने लगे थे। औसतन पांच करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। नर्सरी संचालकों का कहना है बिक्री हो रही है, लेकिन इसे चरम पर नहीं कहा जाएगा। इस समय 25 फीसद कारोबार मिला है। कारण अभी ग्राहकों पूरी तरह से निकलने से बच रहा है। दूसरा तेज धूप भी एक वजह बनी हुई है।
तुलसी
नर्सरी में तुलसी के पौधों की मांग भी काफी है। हालांकि पहले भी तुलसी की मांग रहती थी लेकिन कोरोना काल में ये बढ़ी है। अधिकांश लोग अन्य पौधों के साथ तुलसी के पौधे की भी मांग करते हैं। एलोवेरा की मांग में भी इजाफा हुआ है।

*रिपोर्ट | भोवन सिंह ब्यूरो चीफ आगरा उ0प्र0*
( *NEWS 24 INDIA न्यूज चैनल*)

No comments