Header Ads

.

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योगाचार्य डॉ0 रमेश चंद्र ने योग के माध्यम से दिया निरोगी काया का संदेश।

प्रयागराज।आज 21 जून 2020 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रातः काल 6:30 बजे से पूरे उत्साह व हर्षोल्लास के साथ महेवा स्थित लगन बिहार गेस्ट हाउस में फिजिकल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखते हुए सभी साधकों ने मिलकर सरकार द्वारा बनाए गए प्रोटोकॉल के हिसाब से योगाभ्यास किया। 
इस योगाभ्यास का लाइव टेलीकास्ट भी हुआ और काफी लोगों ने इससे जुड़कर अपने घर पर योगाभ्यास किया ।यह अभ्यास इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाइजेशन उत्तर प्रदेश राज्य के सह संयोजक और इंडियन योग एसोसिएशन के आजीवन सदस्य योगाचार्य डॉ रमेश चंद्रा ने पूरे उत्साह से कराया। उन्होंने योगाभ्यास के दौरान योग साधकों को नियमित योग करने की सलाह दी और बताया कि इससे हमारी इम्यूनिटी शक्ति और  रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है जिससे कोरोना सहित तमाम बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है। और हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। 
आज की भागदौड़ की जिंदगी में हमारा गलत खानपान ,गलत रहन-सहन ,अनियमित दिनचर्या, असंयमित विचार , प्रदूषित वातावरण की वजह से हम अनेक रोगों के शिकार हो जाते हैं ।जो शरीर हमारे लिए 24 घंटे काम करता है क्या हम अपने शरीर  को एक घंटा नहीं दे सकते ? यह 1 घंटे का योग प्राणायाम का अभ्यास हम हमें 24 घंटे पूरी तरह से ऊर्जा से भरा हुआ और स्वस्थ रखता है।
योग आज की जरूरत है यह हमारी प्राचीन धरोहर है हमें इस को अपनाना चाहिए ।और इसे अपने नियमित दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। योग प्राणायाम करने से हमारे शरीर में ऑक्सीजन का लेवल समुचित मात्रा में संतुलित रहता है हमारे शरीर के पंचमहाभूत ,सप्त धातु, हमारी पांचों इंद्रियां पूरी तरह से संतुलित रहते हैं। हमारी अंतः स्त्रावी ग्रंथियों से स्राव समुचित मात्रा में होता है जिससे हमें किसी भी प्रकार की बीमारी का बाहर से आक्रमण नहीं होता। पंचमहाभूतो छित जल पावक गगन समीर से बना हुआ हमारा यह शरीर जब इसमें किसी भी तत्व में असंतुलन आ जाता है तो हमारा शरीर बीमार पड़ जाता है ।ऐसा ही हमारे ब्रह्मांड में भी होता है जब इन्हीं पांच तत्वों में किसी भी प्रकार का असंतुलन होता है तो हमारे इस पृथ्वी पर भी भीषण चक्रवात ,सुनामी आदि तमाम प्रकार की आपदाएं आने लगती हैं जिससे समूचा जन जीवन तहस-नहस हो जाता है इसलिए इनको समतुल्य रखने के लिए हमें नियमित योगाभ्यास की जरूरत है। यदि हम सात्विक जीवन जीते हुए पूर्ण निष्ठा श्रद्धा और विश्वास के साथ इस योग की कला को अपने जीवन में डाल दें तो निश्चित ही हम पूरी तरह से स्वस्थ हो जाएंगे और हम जब स्वस्थ होंगे तो हमारा परिवार और समाज स्वस्थ होगा पूरा भारत स्वस्थ होगा और समूचा विश्व स्वस्थ होगा। इस बार कोरोना संक्रमण बीमारी के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेशानुसार ऑनलाइन योगा का कार्यक्रम रखा गया जिससे सब लोगों ने अपने अपने घरों पर रहकर अपने परिवार के साथ अपने मोबाइल पर लाइव टेलीकास्ट के साथ योगाभ्यास किया। इस साल योगा परिवार को सफल बनाने के लिए हमारे इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाइजेशन उत्तर प्रदेश राज्य के संयोजक डॉ नवीन सिंह का बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान रहा।आर्गेनाइजेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अनंत बिरादर ने 5 लाख लोगों को घर पर अपने परिवार के साथ योगाभ्यास कराने का निर्णय लिया था जो पूर्णतया सफल रहा। योगी बने निरोगी बने उपयोगी बने तथा सहयोगी बने।
रिपोर्ट-ब्यूरो चीफ फ़िरोज़ खान न्यूज़24 इंडिया प्रयागराज यू0पी0

No comments