Header Ads

.

आगरा में मंगलवार को भी भीषड गर्मी का कहर जारी


आगरा में लोकडाउन के साथ भीषण गर्मी से लोग त्राहिमाम त्राहिमाम कर रहे हैं। भीषण गर्मी अब लोगों को सताने लगी है, चिल्लाने लगी है। सुबह 7:00 बजे से तापमान अपने पूरे शबाब पर होता है। जिस तरीके से आगरा में कोरोना वायरस का संक्रमण फैला और उत्तर प्रदेश में आगरा पहले पायदान पर पहुंचा। ठीक उसी तरीके से गर्मी भी शहर में अपना रौद्र रूप दिखाने लगी है। पिछले 24 घंटे की अगर हम बात करें तो यहां 24 घंटे के अंदर आगरा में गर्मी ने रिकॉर्ड तोड़ दिया। आगरा में सोमवार को गर्मी का तापमान 46.3 डिग्री सेल्सियस रहा है जिसको लेकर शहरवासी काफी परेशान और व्याकुल रहे।

आगरावासियों का कहना है कि ऐसी गर्मी उन्होंने कई वर्षों बाद देखी है। जब आसमान से आग बरस रही हो। पशु पक्षी और इंसान सब कुछ व्याकुल हो। उनका कहना है कि एक तो पहले से ही वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से परेशान थे तो अब सूरज की तपिश उन्हें परेशान कर रही है। यह गर्मी बच्चों और बुजुर्गों के लिए घातक हो सकती है। ऐसे में हैजा, मलेरिया, उल्टी और लूज मोशन का खतरा और ज्यादा बढ़ जाता है।

मौसम विभाग के जानकारों के मुताबिक अगले दो दिनों में यह गर्मी आगरावासियों को और सता सकती है। लॉकडाउन के चलते सड़कों पर सन्नाटा वैसे ही पसरा हुआ है लेकिन आग उगलती गर्मी के चलते भी लोग अब घर से निकलने से बच रहे हैं। हालात यह है कि सुबह 7 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक गर्मी की लपटों का सामना करना पड़ रहा है। लगातार गर्मी का पारा सातवें आसमान पर पहुंच रहा है।

बढ़ती गर्मी के पारे से सभी लोग परेशान हैं। बेबस और लाचार हैं। क्योंकि यह मौसम की मार है और यह किसी के भी हाथ में नहीं है। लोग बस यही चाह रहे हैं कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का खतरा रुके और इसके साथ-साथ गर्मी का पारा भी डाउन हो और शहरवासी सुकून महसूस कर सकें।
 
*रिपोर्ट | भोवन सिंह रिपोर्टर आगरा*
( *NEWS 24 INDIA न्यूज चैनल*)

No comments