Header Ads

.

कोरोना संकट के बीच प्रचंड गर्मी में पानी के लिए जूझ रही 'जिंदगानी', यह है आगरा की कहानी

आगरा एक तरफ कोरोना संकट, दूसरी तरफ प्रचंड गर्मी...इन सबके बीच आगरा में हजारों पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। मंगलवार को लगभग 80 हजार लोग भीषण गर्मी में पानी के लिए बाल्टी लेकर भटकते रहे। दरअसल, नौलक्खा जोनल पंपिंग स्टेशन से जुड़ी कॉलोनियों में पानी नहीं पहुंचा। इसकी वजह रही छीपीटोला में 30 इंच की पाइप लाइन का लीक हो जाना। उधर, यमुनापार में जलसंकट बरकरार रहा।
एक तरफ कोरोना संकट, दूसरी तरफ प्रचंड गर्मी...इन सबके बीच आगरा में हजारों पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। मंगलवार को लगभग 80 हजार लोग भीषण गर्मी में पानी के लिए बाल्टी लेकर भटकते रहे। दरअसल, नौलक्खा जोनल पंपिंग स्टेशन से जुड़ी कॉलोनियों में पानी नहीं पहुंचा। इसकी वजह रही छीपीटोला में 30 इंच की पाइप लाइन का लीक हो जाना। उधर, यमुनापार में जलसंकट बरकरार रहा।
छीपीटोला में मंगलवार शाम को लीकेज लाइन में केमिकल लगाकर उसे सील कर दिया गया। मरम्मत के कारण शाम को छावनी क्षेत्र के सभी आठ वार्डों और नौलक्खा क्षेत्र से जुड़े कॉलोनियों को पानी की सप्लाई बंद रही। जलकल विभाग के महाप्रबंधक आर एस यादव ने बताया कि मंगलवार को सुबह से ही लाइन पर काम शुरू कर दिया गया था। सुबह आपूर्ति देने के बाद दोपहर में पानी की सप्लाई बंद कर दी गई और लीकेज की मरम्मत का काम शुरू हुआ।
यमुनापार में टैंकरों का इंतजार करते रहे लोग
यमुनापार के नारायच क्षेत्र में शोभा विहार में लोग पानी के लिए निजी टैंकरों के भरोसे हैं। ये टैंकर भी 3 से 4 दिन बाद बमुश्किल आते हैं। मंगलवार को लोग दोपहर तक इनका इंतजार करते रहे।
नारायच में पानी की टंकी से सप्लाई न मिलने के कारण यह समस्या बनी हुई है। कॉलोनी के लोगों ने जलकल विभाग से कई बार पानी के टैंकरों की मांग की लेकिन जलकल विभाग उन्हें टैंकरों के जरिए सप्लाई नहीं दे पाया। न ही नारायच पानी की टंकी पर प्रेशर बढ़ाया गया।  
*रिपोर्ट | भोवन सिंह रिपोर्टर आगरा*
( *NEWS 24 INDIA न्यूज चैनल*)


No comments