Header Ads

.

रक्त परिसंचरण के लिए उपयोगी आसन-महेश कुमार

#अधोमुखश्वानासन -
#विधि-
सबसे पहले सीधे खड़े हों और दोनों पैरों के बिच छोड़ा दूरी रखें।
उसके बाद धीरे से नीचे की ओर मुड़ें जिससे की V जैसे Shape बनेगा।दोनों हाथों और पैरों के बीच में थोडा सा दूसरी बनायें।
साँस लेते समय अपने पैरों की उँगलियों की मदद से अपने कमर को पीछे की ओर खींचें। अपने पैरों और हांथों को ना मोड़ें।
ऐसा करने से आपके शरीर के पीछे, हांथों और पैरों को अच्छा खिंचाव मिलेगे।
एक लम्बी से साँस लें और कुछ देरी के लिए इस योग पोज़ में रुकें.
#लाभ-
1- मांसपेशियों में मजबूती आती है।
2- साइनस की समस्या दूर होती है।
3- शरीर को अच्छा खिचाव मिलता है।
4- रक्त परिसंचरण में सुधार आता है।
ये बेहतर होगा कि अधोमुख श्वानासन का #सावधानी-
इस आसन का अभ्यास करने से बचें अगर आपको इनमें से कोई भी समस्या हो। जैसे,
1. कार्पल टनल सिंड्रोम (Carpal tunnel syndrome)
2. हाई ब्लड प्रेशर (High blood pressure)
3. रेटिना में खराबी होने पर (A detached retina)
4. कंधा उखड़ने पर (A dislocated shoulder)
5. आंखों की केशिकाओं के कमजोर होने पर (Weak eye capillaries)
6. डायरिया होने पर (Diarrhea) .
रिपोर्ट-फ़िरोज़ आलम खान प्रयागराज यू0पी0

No comments