Header Ads

.

आगरा में निजी लैब की कोरोना की जांच को लेकर मिली शिकायतों के बाद रोक लगा दी थी, अब दोबारा निजी लैब को कोरोना की जांच की अनुमति दे दी गई है

आगरा में निजी लैब की कोरोना की जांच को लेकर मिली शिकायतों के बाद रोक लगा दी थी, अब दोबारा निजी लैब को कोरोना की जांच की अनुमति दे दी गई है।

आगरा के निजी अस्पतालों में भर्ती हो रहे सभी मरीजों की कोरोना की जांच कराई जा रही है, यह जांच दो निजी लैब द्वारा की जा रही थी। कोरोना की जांच के लिए 4500 रुपये चार्ज किए जा रहे हैं लेकिन जांच रिपोर्ट पर सवाल उठने के बाद जिला प्रशासन के आदेश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने निजी लैब को नोटिस दिया था। वहीं, निजी लैब की जांच पर रोक लगा दी थी। आइएमए ने निजी लैब की जांच शुरू करने की मांग की थी, जिससे अस्पताल में भर्ती मरीजों की जांच हो सके।
निजी लैब को अनुमति, लेकिन सभी मरीजों की नहीं करा सकेंगे जांच
निजी अस्पताल में भर्ती होने वाले सभी मरीजों की जांच कराई जा रही है, इससे मरीजों का खर्चा भी बढ रहा है। सीएमओ डॉ आरसी पांडे का कहना है कि आईसीएमआर की गाइड लाइन के आधार पर ही निजी अस्पताल में भर्ती मरीजों की कोरोना की जांच कराई जा सकती है। मरीजों को यह विकल्प भी दिया जाएगा कि वे स्वास्थ्य विभाग की टीम से भी जांच करा सकता है, रोजगार कार्यालय में भी जांच के लिए सैंपल दे सकता है। जिससे किसी मरीज को परेशानी ना हो।

*रिपोर्ट | संध्या सिंह क्राइम रिपोर्टर आगरा*
( *NEWS 24 INDIA न्यूज चैनल*)

No comments