Header Ads

.

कौशाम्बी ।थानेदार की तानाशाही रवैया की क्षेत्र में हो रही चर्चा ,अपने को कैबिनेट मिनिस्टर व मुख्यमंत्री का रिश्तेदार बताने का पीट रहा है डंका

कौशाम्बी ।

थानेदार की तानाशाही रवैया की क्षेत्र में हो रही चर्चा ,अपने को कैबिनेट मिनिस्टर व मुख्यमंत्री का रिश्तेदार बताने का पीट रहा है डंका ।

👉 जमीदारी के अंदाज में चल रहा है करारी थाना, फरियादियों से की जाती है बदतमीजी से बात ।

थानाध्यक्ष करारी का ऑडियो हुआ वायरल ।  पीड़ित से फोन पर तानाशाही अंदाज में बात करते थाना प्रभारी करारी के0पी सिंह । पीड़ित को कानून की भाषा समझा रहे हैं के0पी0 सिंह और कह रहे हैं कि आरोपी को नहीं पकड़ेंगे जो भी करना हो कर ले । पीड़ित प्रदीप मौर्या की इंस्पेक्टर करारी के0पी सिंह से बात होने की आइडियो हुई वायरल ।

 👉 नौकरशाही हुई बेलगाम ,कौन लगाएगा इन बिगडैल थानेदारों पर लगाम । जमींदारी के अंदाज में चलाया जा रहा है करारी थाना ,फरियादियों को समझा जाता है गुलाम । थाने जाने से डरते हैं फरियादी, कैसे मिलेगा थाना से पीड़ितो को न्याय ।

 सूत्रों की मानें तो मनमानी तरीके से चल रहा है थाना करारी ,कैबिनेट मिनिस्टर व सीएम का रिश्तेदार बताकर क्षेत्र में दहशत बनाने की है चर्चा । आखिर कब तक करारी थाना में चलेगी तानाशाही , यह जांच का है विषय । फरियादियों को थाने से डांट कर जाता है भगाया ,अपराधी हुए बेलगाम थानाध्यक्ष से मिलता है  अपराधियों को संरक्षण । पीड़ितों की थाने में नहीं लिखी जाती है एफआईआर । वसूली का धंधा चरम पर, लोगों की नहीं दर्ज होती है रिपोर्ट । पीड़ितों की तहरीर पर होती हैं सौदेबाजी । अपराधियों से खुलेआम होती है सौदेबाजी, यही कारण है करारी क्षेत्र में बढ़ रहे हैं अपराध , काफी विवेचना है लंबित । फरियादी थाने में जाने से है डरते, इंस्पेक्टर फरियादियों से करते हैं बदतमीजी से बात । उच्च अधिकारी इंस्पेक्टर के कारनामों का नहीं लेते हैं संज्ञान ।

थाना क्षेत्र में सैकड़ों पेड़ किए गए धारासाई जिनके निशान हैं मौजूद । खुलेआम बिक रहे हैं इलाके मे गांजा ,बीट तक में है दलालों का बोलबाला । दलालों के इशारे पर  चल रही करारी थाने की कानून व्यवस्था ,कैसे मिलेगा पीड़ितों को न्याय ।

वायरल आडियो में इंस्पेक्टर पीड़ित के साथ कर रहे हैं तानाशाही अंदाज में बात । क्राइम नंबर 86 ,27 अप्रैल को दर्ज हुई है धारा 147, 148 ,323 ,504 ,308 के 6 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट ।

 थाना प्रभारी के 10 माह के कार्यकाल में बढ़ा अपराधों का ग्राफ लेकिन नहीं दर्ज होती है अपराधों की रिपोर्ट ।  । रिश्वतखोरी की काली कमाई से बनाई करोड़ों की संपत्ति । इलाहाबाद के झूंसी में भी है मकान सहित कई है बेनामी संपत्ति । अगर जांच हुई तो निकलेगी आय से अधिक संपत्ति । क्या होगी इस मामले में कोई जांच ,यह जांच का विषय है


No comments