Header Ads

.

कलेक्टर शीलेंद्र सिंह ने किया आदेश**जिले में 17 मई तक लॉकडाउन घोषित लॉकडाउन अवधि में प्रतिबंधित कार्य और सेवाओं में 4 मई से सशर्त छूट*

*बड़ी खबर*
*कलेक्टर शीलेंद्र सिंह ने किया आदेश*

*जिले में 17 मई तक लॉकडाउन घोषित लॉकडाउन अवधि में प्रतिबंधित कार्य और सेवाओं में 4 मई से सशर्त छूट*

न्यूज़ 24 इंडिया ब्यूरो चीफ महेंद्र सिंह छतरपुर मध्यप्रदेश

*खबर* छतरपुर,/कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी शीलेन्द्र सिंह द्वारा भारतीय दण्ड प्रक्रिया 1973 की धारा 144 के तहत आदेश जारी कर 17 मई 2020 तक छतरपुर जिले में लॉकडाउन घोषित किया गया है साथ ही 4 मई से 17 मई 2020 तक लॉकडाउन अवधि में प्रतिबंधित कार्य और सेवाओं के लिए सशर्त छूट प्रदान की गई है।
04 मई  से निम्नलिखित गतिविधियां प्रतिबंध से मुक्त
1. दूध की दुकानें खुलने का समय प्रतिदिन प्रातः 07.00 बजे से सायं 06.00 बजे तक रहेगा।
2. फल-सब्जी की दुकानें पूर्व नियत स्थान पर ही प्रतिदिन प्रातः 10.00 बजे से सायं 06.00 बजे तक खोली जाएँगी।
3. सभी शासकीय कार्यालय, कार्यालयीन समय व दिवसों में शुरू किये जायेंगे।
4. आगामी 17 मई 2020 तक ऐसे विवाह समारोह जिनमें जिले की सीमा से बाहर आना जाना हो, प्रतिबंधित रहेंगे। जिला छतरपुर की राजस्व सीमाओं के भीतर शादी समारोह में अधिकतम 20 व्यक्ति उपस्थित रह सकेंगे।
5. समस्त प्रकार के उद्योग-धन्धे, कारखाने एवं अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में कार्य प्रारम्भ करना।
6. विभागीय एवं प्रायवेट अपूर्ण भवन, मनरेगा कार्य, तेंदू पत्ता संग्रहण एवं अन्य निर्माण कार्य प्रारंभ करना।
7. शहरी गलियों, कॉलोनी क्षेत्रों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सभी प्रकार की दुकानों को खोलना।
8. हाथ ठेला दुकान एवं मोची आदि की दुकानें खोली जा सकेंगी। हाथ ठेला दुकान एक स्थान पर खडे नहीं रहेंगे।

यह 20 सेवाएं/गतिविधियां रहेंगी प्रतिबंधित
1. सभी प्रकार के धार्मिक स्थल, पर्यटन एवं तीर्थ स्थल।
2. सभी प्रकार के सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक, पारिवारिक, धार्मिक, साहित्यिक एवं सामूहिक कार्यक्रम जिन में 05 या 05 से अधिक व्यक्तियों से अधिक की उपस्थिति संभावित हो।
3. शाम 06 बजे से प्रातः 10 बजे तक किसी भी स्थान पर 05 या 05 से अधिक व्यक्ति बगैर अनुमति के एकत्र होना।
4. बिना मास्क लगाये किसी व्यक्ति का घर से निकलना।
5. समस्त शासकीय एवं निजी विद्यालय, विश्वविद्यालय, सभी प्रकार के शैक्षणिक एवं प्रशिक्षण संस्थान, कोचिंग क्लासेस।
6. सभी सामाजिक और राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, अकादमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक समारोह, अन्य एकत्रीकरण।
(अत्यावश्यक सेवाओं से जुड़े वाणिज्यिक प्रकल्पों को छोडकर)
7. मैरिज गार्डन, ऑंडिटोरियम एंव सिनेमा घर/सिनेमा हॉंल/मल्टी प्लेक्स।
8. फूड जोन्स/चौपाटी/हॉंकर्स/फूड कॉंनर्स।
9. नदी तटों एवं तालाबों पर सामूहिक स्नान।
10. जिले के शहरी/ग्रामीण समस्त साप्ताहिक हाट बाजार।
11. कर्मचारियों की बायोमेट्रिक उपस्थिति।
12. जिले की राजस्व सीमाओ के बाहर से आने वाली सार्वजनिक परिवहन हेतु बसों/टेक्सियांे आदि का अवागमन।(डभ्। द्वारा अनुमत्य वाहनों को छोड़कर)
13. चिकित्सीय कारणों या इन दिषा-निर्देषों के तहत अनुमत गतिविधियों को छोड़कर व्यक्तियों का अंतर-जिला और अंतर-राज्य आवागमन।
14. अंतिम संस्कार में बीस से अधिक व्यक्तियों का शामिल होना।
15. गुटखा, तम्बाकू, पान-मसाला आदि का विक्रय एवं नाई, ब्युटीपार्लर,स्पा,मसाज सेंटर, सैलून चाय, पान की दुकानें खोलना।
16. सार्वजनिक स्थलों पर थूकना।
17. होटल, रेस्टोरेन्ट, भोजनालय आदि का संचालन।
18. चार पहिया वाहनों में ड्रायवर के अलावा 02 व्यक्तियों एवं दो पहिया वाहन में साथी का बैठाना।
19. शहरी क्षेत्रों में मॉल/शॉपिंग कॉम्प्लेक्स/बाजार क्षेत्र की अत्यावश्यक बस्तुओं (फल/ सब्जी/दूध/ किराना/स्टेशनरी) को छोड़कर अन्य समस्त प्रकार की दुकानों का खोलना।
20. शीट क्षमता का 50 प्रतिशत से अधिक सवारियों का बैठाकर सार्वजनिक वाहन संचालन।

लॉंक-डाउन के दौरान इन 13 शर्ताें का करना होगा पालन
1. जहॉं से समान आदि क्रय किया जाना है वहां पर लाईन में लगे हुये व्यक्तियों के बीच कम से कम एक मीटर की दूरी रखी जाये।
2. सभी शासकीय -अशासकीय कार्यालयों,होटल आदि व्यावसायिक संस्थानों में साबुन से हॉथ धोने के उपरान्त ही प्रवेश की व्यवस्था रखी जाये।
3. 60 वर्ष से अधिक एवं 15 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति घर से बाहर न निकलें। उक्त व्यक्तियों को केवल अत्यन्त अपरिहार्य स्थिति (सामान्य रूप से स्वास्थ्य गत कारण के लिये) में ही घर से बाहर निकलेने की अनुमति होगा।
4. अधोहस्ताक्षरी द्वारा समय समय पर म.प्र. जन स्वास्थ्य अधिनियम 1949 के तहत आदेश जारी किये गये है, उन आदेशों का पालन छतरपुर जिले की भौगोलिक सीमा में उपस्थित रहकर प्रत्येक नागरिक के लिए अनिवार्य होगा। उल्लंघन की स्थिति में तीन माह की सजा और जुर्माना किया जा सकता है।
5. मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा होम क्वारेंटाइन का निर्देश दिये जाने पर संबंधित व्यक्ति/व्यक्तियों के समूह/परिवार को उस का पालन करना अनिवार्य होगा, ऐसा न करने पर धारा 269 आईपीसी धारा 270 आईपीसी तथा 271 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज किया जावेगा।
6. मौके पर उपस्थित मजिस्टेªट/पुलिस अधिकारी/स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी/नगरपालिका के स्वच्छता अमले द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन करना सभी नागरिकों के लिये अनिवार्य होगा।
7. सोशल मीडिया पर अनावश्यक/असत्य/अपुष्ट भ्रामक जानकारी फैलाना दण्डनीय होगा, यह भी की जिन लोगो को होम क्वारेंटाइन किया गया है,उन के नाम/तस्वीर सोशल मीडिया पर प्रसारित करना प्रतिबंधित होगा।
8. अपने क्षेत्राधिकार में इस आदेश का पालन कराने के लिये अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व)/अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) जिम्मेदार होंगे।
9. अपने क्षेत्राधिकार में इस आदेश का उलघंन होने पर संबंधित थाना प्रभारी समुचित कार्यवाही सुनिश्चित करेगें।
10. ऐसे प्रत्येक स्थान/संस्थान जहां लोग/मजदूर आकर कार्य करते हैं उन्हें मास्क लगाकर कार्य करना होगा तथा संस्थान/दुकान मालिक द्वारा सेनेटाईजर की व्यवस्था भी करना होगी।
11. सभी कार्य स्थलों पर सोसल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा।
12. सभी संस्थान/दुकान मालिक को स्वयं एवं वहां कार्य करने वाले व्यक्तियों/मजदूरों आदि का स्वास्थ्य परीक्षण कार्य प्रारम्भ करने के पूर्व कराना अनिवार्य होगा।
13. भ्रमण का कार्य करने वाले इलेक्ट्रीशियन, प्लम्बर आदि को अपनी-अपनी नगर पालिकाओं से मुख्य नगर पालिका अधिकारी से पहचान पत्र जारी कराना होगा।
उक्त आदेश का उल्लंघन भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत दण्डनीय होगा।

No comments