Header Ads

.

अंबेडकरनगरकोरोना वायरस को लेकर देश भर में लॉक डाउन है। ऐसे में गुटखा और सिगरेट की दुकानों को भी बंद रखने का निर्देश दिया गया है

*कोरोना के कहर में भी धड़ल्ले से मिल रहा है ‘कैंसर’*

 *शहर में छापेमारी कर कुछ छोटे दुकानदारों पर कार्यवाही कर लिया इतिश्री*
30/04/2020
 अंबेडकरनगर
कोरोना वायरस को लेकर देश भर में लॉक डाउन है। ऐसे में गुटखा और सिगरेट की दुकानों को भी बंद रखने का निर्देश दिया गया है। लेकिन, शहर के कई इलाकों में सुबह शाम गुटखा और सिगरेट दुकाने भी अवैध रूप से चोरी-छिपे खुल रहीं हैं। खासकर गली मोहल्लों में नियम का उल्लंघन कर पान, गुटका और सिगरेट जैसी नशीले पदार्थ की बिक्री हो रही है। जो दुकानदार अपनी दुकानों में पान, गुटका, सिगरेट आदि रखने से कतराते थे, वो इन दिनों अपने दुकानों में इसकी भी बिक्री कर रहे हैं। क्षेत्र के सभी इलाकों में सुबह शाम इन दुकानों को देखा जा सकता है।

दोगुने दाम पर बिक्री
लॉक डाउन में दुकानदार पहले से दोगुनी कीमत पर सिगरेट और गुटखा बेच रहे हैं। गली-मुहल्लों में दुकानदार चोरी छिपे ब्लैक में सामान बेच रहे हैं। जैसे ही पुलिस की गाड़ी आती है, दुकानें बंद कर देते हैं। वो इस समय का भरपूर लाभ उठा रहे हैं। सिगरेट के पैकेट पर 20 रुपए, गुटखा पर पांच के साथ कई ऐसे नशीले पदार्थों की कीमत दोगुने दाम पर बेच रहे हैं। पुलिस की गाड़ी देखते ही यह दुकान बंद कर देते हैं। 

 शहजादपुर कस्बे में कुछ छोटे व्यापारियों के यहां छापेमारी कर प्रतिबंधित सामानों को बरामद किया और कार्यवाही कर इतिश्री ले लिया गया।

आखिर एजेंसी संचालकों के यहां क्यों नहीं की गई छापेमारी जहां इनको लंबी खेप मिल सकती थी जहां से यह धंधा फलता फूलता है। जनता के स्वर हो रहे मुखर आखिर मात्र छोटे ही दुकानदारों पर कार्यवाही क्यों?

No comments